चनामुर्रा। भारी बारिश के चलते देश के कई राज्यों में तबाही मची हुई है। लगातार नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है। लोगों के घरों में पानी घुस गया है। भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ ने लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। काफी संख्या में लोगों की जान भी चली गई है। पहाड़ी इलाकों से तो भूस्खलन की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। वहीं ओडिशा में तो स्थिति प्रत्येक दिन बिगड़ रही है। यहां पर भारी बारिश के चलते लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है।

भारतीय मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों के मौसम का पूर्वानुमान करते हुए बताया है कि बंगाल की खाड़ी में उत्पन्न हुए डिप्रेशन की वजह से उत्तरी छत्तीसगढ़ और उत्तरी ओडिशा पर बना डिप्रेशन अगले छह घंटों में पश्चिम, उत्तर-पश्चिम के राज्यों की ओर बढ़ जायेगा. जिसकी वजह से छत्तीसगढ़ और उसके पड़ोसी राज्यों में बारिश होगी.

मौसम विभाग ने 15 तारीख के लिए जो पूर्वानुमान किया है उसके अनुसार छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और गुजरात में भारी बारिश की संभावना है. इन राज्यों के लिए विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है. जबकि उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है, यानी यहां कुछ इलाकों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. झारखंड के लोगों को 15 तारीख से बारिश से राहत मिल सकती है, हालांकि पिछले 48 घंटों से यहां लगातार बारिश हो रही है. वहीं 16 सितंबर को उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में बारिश की संभावना है. मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है, जबकि मध्यप्रदेश, गुजरात के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है. नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में बारिश की संभावना है और मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है.

17 सितंबर से मौसम में सुधार होगा और उत्तर भारत के कुछ राज्यों को छोड़कर अधिकतर राज्यों में मौसम खुशनुमा रहेगा. 18 सितंबर को ओडिशा में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है. इधर पिछले 24 घंटों से गुजरात के राजकोट और जामनगर जिलों में लगातार बारिश हो रही है जिसकी वजह से यहां जल प्रलय जैसी स्थिति है. अबतक 200 लोगों को रेसक्यू किया गया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी है कि बाढ़ के कारण जामनगर में एक राष्ट्रीय राजमार्ग के अलावा सौराष्ट्र क्षेत्र के राजकोट, जामनगर और जूनागढ़ जिलों से गुजरने वाले 18 राज्य राजमार्गों को बंद कर दिया गया है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here