युवती का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप करने वाले छात्रावास अधीक्षक सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपियों में एक गांव के महिला सरपंच का देवर है, जिसका नाम बल्ला मरकाम है। पुलिस तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

दरअलस घटना दीपका थाना क्षेत्र के एक गांव की है। 13 सितंबर की शाम साढ़े चार बजे 28 वर्षीय युवती पानी भरने के लिए अपने घर के पास नल में गई हुई थी। इस दौरान गांव से वो लापता हो गई, जिसकी सूचना परिजनों ने 14 सितंबर को दीपका थाने में दर्ज कराई थी। परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेतेे हुये युवती की तलाश शुरू की। पुलिस जांच के बीच 15 सितंबर को पीड़िता गांव के विजय कुमार के कोठा में गंभीर हालत में पड़ी हुई मिली थी। पुलिस ने पीड़िता को तत्काल उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। साथ ही संदेही विजय कुमार को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू की गई। शुरू में तो आरोपी अलग अलग बयान देकर पुलिस को गुमराह करता रहा, जब पुलिस ने कढ़ाई से पूछताछ की तो आरोपी ने अपने दो अन्य साथी के साथ मिलकर युवती के अपहरण की बात कबूल कर ली।

आरोपी ने बताया कि, तीनों ने ही मिलकर युवती का अपहरण किया था और हाथ पैर बांधकर उसे अपने कोठे में रखा था। इस दौरान तीनों ने युवती के साथ दो दिनों तक बलात्कार भी किया था। इसके बाद पुलिस के दबाव के चलते तीनों ने युवती को मौके पर छोड़कर फरार हो गए थे। पुलिस ने आरोपी के बयान के बाद हीरालाल 26 वर्ष और रामलाल मकराम उर्फ बल्ला मरकाम 30 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया है।

इस मामले में दीपका थाना प्रभारी अविनाश सिंह ने बताया कि, परिजनों की शिकायत के इस मामले में तीन आरोपी को गिरफतार किया गया है। तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 376 2 घ, 342, 34 के तहत अपराज दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here