10वीं -12वीं CBSE बोर्ड की परीक्षा में 2 महीने तक की हो सकती है देरी

नई दिल्ली: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) 10th और 12th के छात्र-छात्राओं के लिए बड़ी खबर है. सीबीएसई (CBSE) 2022 की 10वीं और 12वीं के एकेडमिक सेशन (CBSE 10th 12th Academic Session 2021-22) को 50 -50 प्रतिशत सिलेबस के अनुसार दो भागों में बांटा गया है. पहली परीक्षा नवंबर-दिसंबर में जबकि दूसरी परीक्षा मार्च-अप्रैल में होगी.

इंटरनल असेसमेंट होगा ज्यादा विश्वसनीय

2022 की 10वीं- 12वीं बोर्ड परीक्षाओं की योजना के को लेकर सीबीएसई का कहना है कि इंटरनल असेसमेंट और प्रोजक्ट वर्क को और ज्यादा विश्वसनीय और वैलिड बनाने के प्रयास जारी रहेंगे. इससे पहले बोर्ड ने इस साल होने वाली 10वीं-12वीं की परीक्षा कोरोना के चलते रद्द कर दी थी. सीबीएसई ने कहा कि एकेडमिक सेशन (Academic Session 2021-22) में की गई सभी मार्किंग के लिए छात्रों की एक प्रोफाइल बनाई जाएगी. इन सभी का लेखा जोखा एक डिजिटल प्रारूप में रखा जाएगा.

हर टर्म के अंत में बोर्ड परीक्षाएं होंगी

सीबीएसई के निदेशक (टीचिंग) जोसेफ इमैनुएल ने कहा, ‘शिक्षण सत्र 2021-22 के लिए सिलेबस को दो टर्म में बांटा जाएगा, इसके लिए विषयों के विशेषज्ञों की सहायता ली जाएगी.’ उन्होंने कहा, ‘पाठ्य्रकम को दो हिस्सों में बांटे जाने के आधार पर प्रत्येक टर्म के अंत में बोर्ड परीक्षाएं कराई जाएंगी. एकेडमिक सेशन के अंत में बोर्ड द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं कराने की संभावनाओं को बढ़ाने के लक्ष्य से ऐसा किया गया है.’

कोविड की वजह से लागू की जा रही पॉलिसी

बोर्ड परीक्षा 2021-22 के सिलेबस को जुलाई 2021 में नोटिफाइड अंतिम एकेडमिक सेशन के लिहाज से बनाया जाएगा. इमैनुएल ने कहा, ‘इंटरनल मार्किंग, प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट वर्क को अधिक विश्वसनीय और दिशा-निर्देशों के अनुसार वैध बनाने के लिए प्रयास किए जाएंगे और निष्पक्ष तरीके से नंबर दिए जाने के लिए बोर्ड द्वारा पॉलिसी की घोषणा की जाएगी.’ बोर्ड द्वारा यह योजना कोविड महामारी की वजह से लाई गई है जिसके कारण पिछले साल एग्जाम कैंसिल हो गए थे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here